1

The Basic Principles Of bhairav kavach

News Discuss 
मालिनी पुत्रकःपातु पशूनश्यान् गजांस्तथा ।। श्री कालभैरव अष्टक भगवान काल भैरव को समर्पित है। आद्य शंकराचार्य जी... मियन्ते साधका येन विना श्मशानभूमिषु। वायव्यां मां कपाली च नित्यं पायात् सुरेश्वरः ॥ हे बटुक भैरव ! आपकी जय हो। हे शिव के अवतार आप सभी संकटों को दूर कर इस भक्त https://orangebookmarks.com/story16711991/indicators-on-bhairav-kavach-you-should-know

Comments

    No HTML

    HTML is disabled


Who Upvoted this Story